उदयपुर की यमोली को मिली सिंगापुर के इंटरनेशनल स्कूल की स्कालरशिप

 उदयपुर की यमोली को मिली सिंगापुर के इंटरनेशनल स्कूल की स्कालरशिप

उदयपुर की यमोली व्यास को सिंगापुर के एक इंटरनेशनल बोर्ड स्कूल ने 100 % स्कालरशिप प्रदान की है. यमोली अगले दो वर्ष (11वी और 12वी ) की पढाई सिंगापुर में करेगी.

देश भर से मात्र 17 छात्र छात्राएं कड़ी परीक्षा, टेस्ट एवं इंटरव्यू के दौर से गुज़रते हुए इस प्रतिष्ठित संस्थान के सिलेक्शन में कामयाब हो पाए. यमोली उदयपुर से ही नहीं बल्कि पूरे राजस्थान से अकेली छात्रा है जिसे शैक्यषणिक योग्हयता के आधार पर स्कालरशिप मिली है.

दीप्ति और देवेश व्यास की पुत्री यमोली उदयपुर के ही एक निजी स्कूल में अध्यनरत है, अब वह अगले दो साल तक सिंगापुर में रह कर पढ़ेंगी जहाँ उनकी पढाई, रहने आदि का 100 प्रतिशत खर्चा संस्था खुद व्यव करेगी, साथ ही हर माह स्टाईपेन भी देगी, इस तरह हर छात्र का सालाना खर्चा करीब 90 हज़ार डॉलर होगा. दो साल की पढाई पूरी होने के बाद यमोली को विश्व की टॉप यूनिवर्सिटी में पढने का मौका भी मिलेगा.

यमोली के पिता देवेश व्यास टेक्निकल मेनेजर है, और माता दीप्ति व्यास गृहणी है. यमोली कहानियाँ लिखती है, उन्हें सिंगिंग, डांसिंग और किताबे पढने का शौक है.

ब्रहामंड के रहस्य से आकर्षित, यमोली आगे चल कर एक एस्ट्रोफिजिसिस्ट बनना चाहती है.

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *