हनी ट्रेप मर्डर मामले में महिला सहित 5 गिरफ्तार

 हनी ट्रेप मर्डर  मामले में महिला सहित 5 गिरफ्तार

भीण्डर थाना पुलिस ने एक किराणा व्यवसायी के मर्डर के आरोप में एक महिला सहित 5 लोगो को गिरफ्तार किया है. मामला हनी ट्रेप का बताया जा रहा है.

जिला पुलिस अधीक्षक, उदयपुर भुवन भूषण यादव ने बताया कि मदनमोहन पाटीदार उर्फ टोनी निवासी बड़ा राजपुरा कानोड़ को आरोपियों ने पहले महिला के ज़रिये संपर्क करवा हनी ट्रेप में फंसाया गया फिर मारपीट की गई जिसके चलते उसकी मौत हो गई. भीण्डर एसएचओ पुनाराम गुर्जर द्वारा तत्वरित कार्यवाही करते हुए पांचो आरोपियों को पकड लिया गया.

पुलिस ने बताया कि मदन मोहन की हत्या की रिपोर्ट उसके पिताजी द्वारा दर्ज करवाई गई थी. पुलिस ने अनुसंधान कर वारदात में लिप्त आरोपी राजू उर्फ राजमल गुर्जर, पुष्पेन्द्र सिंह उर्फ पप्पी सिसोदिया, रतन सिंह उर्फ रतन देवडा,  अनीश (सभी चित्तौड़गढ़ ज़िले के निवासी), अंजु उर्फ हीना पत्नि शिवसिंह भिलाला (रावल) निवासी राजगढ मध्यप्रदेश को गिरफ्तार किया गया.

तरीका वारदात:

मृृतक मदन मोहन उर्फ टोनी जो कानोड रेल्वे स्टेशन पर पाटीदार एजेन्सी के नाम से किराणे की दुकान का संचालन करता है। साथ ही शराब के ठेको में साझेदार हो आर्थिक रूप से सक्षम है। गिरोह के मुख्य सरगना राजू गुर्जर द्वारा अपने साथियो से मिलकर उसे हनीट्रैप मे फंसाने हेतु योजना बनायी।

राजू ने अपने साथी पुष्पेन्द्र सिंह, रतन सिंह, अनीश, साजिद के साथ मिलकर अंजु उर्फ हीना भिलाला को पैसो का लालच देकर मदनमोहन पाटीदार से पैसे ऐठने हेतु मोबाईल एंव सिम उपलब्ध करवायी फिर अंजु को घटना से तकरीबन 15 दिन पूर्व ही चित्तोडगढ की एक होटल मे रुकवा कर मदन मोहन उर्फ टोनी से सम्पर्क करवाया.

दिनांक 1 फरवरी को अंजु भिलाला द्वारा मदन मोहन को मध्यप्रदेश से आबरी माता चित्तोडगढ दर्शन करने आने एंव मिलने का आॅफर दिया जिस पर मदन मोहन अपने घर से मोटरसाईकिल लेकर सालेडा होते हुवे होटल राजदीप पैलेस पहुंचा और अंजु भिलाला को साथ चला गया, फिर पुनह युवती को होटल पर छोड़ने आया तभी पूर्व योजना के अनुसार आरोपी साजिद द्वारा अपने दोस्तो के साथ मदन मोहन को जाते हुवे रूकवाया तथा अंजु को अपनी भाभी बतायी जाकर उसके साथ गलत काम करने के केस मे फंसाने की धमकी दी तथा मदनमोहन द्वारा आनाकानी करने पर साजिद व साथियो द्वारा मदनमोहन उर्फ टोनी के साथ मारपीट की गयी एंव पूर्व योजना अनुसार साजिद द्वारा दोस्त राजू गुर्जर, पुष्पेन्द्र सिंह, रतनसिंह को बुलाया.

सरगना राजू गुर्जर ने 06 लाख रूपये मदनमोहन उर्फ टोनी से लेकर देने की हां भरी तथा मदनमोहन उर्फ टोनी को ईलाज हेतु महात्मा हाॅस्पिटल डूगला लेकर गये तथा ईलाज करवाया एंव 06 लाख रूपये की व्यवस्था होने तक अपने प्रभाव एंव कब्जे मे रखा गया।  दिनांक 02.02.2024 को सुबह मदन मोहन की छाती मे दर्द होने से रास्ते मौत होने से लाश को सीएचसी भीण्डर छोडकर राजू गुर्जर उसके साथियो के साथ मौके से फरार हो गया। 

हनीट्रैप का जालः-

अभियुक्तगण शातिर प्रवृति के हो मानवीय कमजोरी को ध्यान मे रखते हुवे यौन प्रलोभन का झांसा देकर ऐसे व्यक्तियो को फंसाकर पेसे ऐठने का गौरख धंधा करते है। उक्त राजू गुर्जर एंव उसके साथी पूर्व मे भी इसी प्रकार से डूगला, भादसोडा, सावलियाजी एंव असावरा चित्तोडगढ में वारदात को अंजाम दिया जाकर लाखो रूपये लोगो से ऐठ चुके है। 

आमजन को संदेश:– सभी आमजन से आग्रह है कि अपने व अपने परिवार के किसी सदस्य के इस संबंध में हनीट्रैप जैसा मामला हो तो उसे विश्वास मे लिया जाकर संबंधित थाने मे जाकर ऐसे घृृणित कृृत्य करने वाले लोगो के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाये ताकि हनीट्रैप के मामलो से निजात मिल सके।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *