नकली नोट प्रकरण में सद्दाम और अमीन निर्दोष

 नकली नोट प्रकरण में सद्दाम और अमीन निर्दोष
  • बेकसूर होकर भी चार महीनों से जेल में बंद
  • पुलिस अधीक्षक ने फिर से जांच के दिये थे आदेश
  • जांच में दोनों निर्दोष पाए गए
  • जल्द हो सकते है रिहा

उदयपुर । बहुचर्चित नकली नोट प्रकरण में गिरफ्तार हुए सद्दाम और अमीन को पुलिस ने अब निर्दोष मान लिया है, जल्द ही दोनों रिहा हो सकते है. दोनों पिछले 4 महीने से ज्यादा समय से जेल में बंद है.

उदयपुर पुलिस की स्पेशल टीम ने 17 नवम्बर को सज्जन नगर मल्ला तलाई निवासी सद्दाम और उसके साथी आमीन को 6 लाख रूपये के नकली नोटों के साथ गिरफ्तार किया गया था, सद्दाम सज्जनगढ़ गेट पर नाश्ते का ठेला लगाता था.

मामले में पुलिस ने दोनों को दोषी मान कर कोर्ट में चालान भी पेश कर दिया था. सद्दाम के परिजनों ने सद्दाम को निर्दोष बताते हुए उसके फ़ोन और विडियो रिकॉर्डिंग मीडिया को बताई जिसमे सद्दाम खुद ही पुलिसकर्मी को नकली नोटो की जानकारी दे रहा है.

दुसरे दिन पुलिस ने सद्दाम को ही आरोपी बना के अरेस्ट कर दिया था.उदयपुर न्यूज़ चैनल के हवाले से बताया गया था कि कैसे 15 नवम्बर को सद्दाम ने खुद नकली नोटों के बारे में पुलिस को सूचित किया था, वह नकली नोट वसीम नाम के शख्स ने सद्दाम के मामा से गाड़ी के सौदे के एवज में दिए थे. और 17 नवम्बर को पुलिस ने सद्दाम के ठेले से नकली नोट बरामद होना बताया.

सद्दाम के माता पिता ने एस पी डॉ राजीव पचार से गुहार लगायी और फिर से निष्पक्ष जांच की मांग की जिस पर डीवाईएसपी चेतना भाटी को जांच की ज़िम्मेदारी सौंपी गयी. डीवाईएसपी द्वारा रिपोर्ट में सद्दाम और अमीन निर्दोष पाए गए.इस घटना के साथ वल्लभनगर के तेजराम का भी केस याद आता है जिसे मादक पदार्थ तस्करी में पकड़ा गया था और बाद में निर्दोष मान कर जेल से रिहा किया गया था.

इन दोनों केस में पुलिस की जांच प्रणाली पर सवाल उठते है, क्या और भी बेकसूर लोग होंगे जो बिना कसूर जेल में अपनी ज़िन्दगी काट रहे होंगे?

क्या दोषी पुलिसकर्मीयो को सजा मिलेगी?

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *