एस्कॉर्ट सर्विस के नाम पर फर्जी कॉल सेन्टर चलाते 6 गिरफ्तार, 19 एटीएम कार्ड व 15 मोबाइल जब्त

 एस्कॉर्ट सर्विस के नाम पर फर्जी कॉल सेन्टर चलाते 6 गिरफ्तार, 19 एटीएम कार्ड व 15 मोबाइल जब्त

अम्बामाता थाना पुलिस ने एक बड़ी कार्यवाही को अंजाम देते हुए एस्कार्ट सर्विस के नाम पर फर्जी कॉल सेन्टर चलाते 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, साथ ही उनके पास से 19 एटीएम कार्ड व 15 मोबाइल भी जब्त किये. आरोपियों द्वारा सेंकडो लोगो के साथ ठगी का खुलासा हुआ है.

थानाधिकारी डॉ हनवंत सिंह राजपुरोहित ने बताया कि खेरवाड़ा थानाधिकारी दिलीप सिंह द्वारा सूचना मिलने पर टीम द्वारा सज्जननगर पायनियर स्कुल वाली गली में अयाना अपार्टमेन्ट के द्वितीय तल पर एक फ्लैट में दबिश डी गई.

पुलिस ने बताया कि फ्लैट में 6 युवक मिले जिनके पास एक दर्जन से भी ज्यादा मोबाइल फ़ोन, एटीएम कार्ड आदि मिले, सभी डूंगरपुर ज़िले के अलग अलग गाँवों के रहने वाले है और उदयपुर में फ्लैट किराये पर ले कर रह रहे थे.

पुलिस ने बताया कि सभी से गहनता से पुछताछ करने पर ऑनलाइन लोगो से एस्कॉर्ट सर्विस के नाम से ठगी करना पाया गया। जिससे मौके से मिले सभी इलेक्ट्रोनिक सामनो को जब्त कर सभी आरोपियो को गिरफ्तार किया गया। 

जिस पर सभी को अपना नाम पता पूछने पर सभी ने अपने नाम क्रमशः (1) दयालाल पाटीदार निवासी खेडा सामोर थाना दोवडा जिला डुंगरपुर, (2) भरत पाटीदार निवासी बडोदा आसपुर जिला डुंगरपुर (3) रोशन पाटीदार निवासी खेडा सामोर थाना दोवडा जिला डुंगरपुर, (4) हितेश पाटीदार निवासी कल्याणा थाना आसपुर जिला डुंगरपुर, (5) प्रवीण पाटीदार निवासी खेडा सामोर थाना दोवडा जिला डुंगरपुर, (6) कपिल पाटीदार निवासी गढा एकलिंग जी थाना आसपुर जिला डुंगरपुर, होना बताया।

उनके फ्लैट में कुल 15 मोबाईल फोन, 19 एटीएम एवं बिस्तर पर अन्य इलेक्ट्रोनिक उपकरण मोबाईल चार्जपिन, सीमे मिले तथा पुलिस मुख्यालय द्वारा साईबर अपराध में चिन्हित नम्बर भी उनके पास मिले।

तरीका वारदातः-

सभी आरोपियो द्वारा मोबाईल में ऑनलाइन एस्कोर्ट सर्विस साईट पर ऐड में अपनी आई डी बना लडकियों के फोटो अटेच कर फर्जी तरीके से सर्विस विज्ञापन देते जिसमे दिये गये मोबाईल नम्बर पर व्हाट्सएप से लोग सम्पर्क करते और इनके झांसे में आकर एडंवास के नाम पर 100-200 से लेकर 5000 तक जो भी राशी जमा करा देते।

सभी बुकिंग राशि को डमी बैंक खातो में प्राप्त करते है। तथा ग्राहक द्वारा एस्कार्ट सर्विस के लिए लडकी की मांग करने पर पहले तो धमकाते तथा फिर भी परेशान करने पर ग्राहक के नम्बर को ब्लाॅक कर देते है।

उक्त लोगो द्वारा उपयोग में लिये जा रहे डमी खातो व मोर्बाइल नम्बरो के बारे में पूछने पर बताया कि उक्त मोबाईल नम्बरो की सिम व खाते किराये से अन्य राज्यो के लोगो द्वारा के.वाई.सी कराया जाकर सिम कार्ड व ए.टी.एम कार्ड को जरिये कुरियर के पहूॅचाना बताया।

जिस पर उक्त सभी को वर्तमान में उपयोग में लिये जा रहे खातो के सम्बन्ध मंे पूछने पर एक एच.डी.एफ.सी बैक के खाता नम्बर, एवं दो कोटेक महेन्द्रा बैंक के खाता नम्बरो को काम में लेना बताया तथा उक्त खातो का नेट बैकिंग सम्बन्धित एक्सेस स्वयं के पास रखते एवं एस्कोर्ट सर्विस के नाम से कस्टमर से ठगी कर प्राप्त राशि को उक्त फर्जी खातो में प्राप्त की जाकर सभी के द्वारा ए.टी.एम से विड्रोल कर उपयोग में ली जाना बताया गया।

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *